शनिवार, 5 जून 2010

Priykaant

प्रिय मित्रो, मेरा नया उपन्यास प्रियकांत किताबघर प्रकाशन, २४, अंसारी रोड, नई दिल्ली से प्रकाशित हुआ है. उपन्यास के बारे में संक्षिप्त सी जानकारी फ्लैप पर मौजूद है. आशा है आप इसे पढ़ना चाहेंगे.

5 टिप्‍पणियां:

  1. पहले तो बधाई देंगे।
    फिर बतलाना चाहेंगे
    पढ़ना तो जरूर चाहेंगे
    पर क्‍या आप प्रति
    स्‍वयं भिजवायेंगे या
    आना होगा खुद लेने।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बहुत बधाई। जब भी अवसर मिला इसे अवश्य खरीदूँगी।
    घुघूती बासूती

    उत्तर देंहटाएं
  3. sammaniya sahgal saab ,
    saadar pranam !
    priy kant '' ke liye aap ko bahut bahut badhai, main padhna chahuga is oopnyaas ko .
    saadar
    sunil gajjani

    उत्तर देंहटाएं

टिप्‍पणी सच्‍चाई का दर्पण है